Connect with us

cricket news

अगले आईपीएल सीजन में धोनी बना सकते हैं 400 रन, लेकिन करना होगा यह काम, सुनील गावस्कर का बड़ा बयान

Published

on

अगले आईपीएल सीजन में धोनी बना सकते हैं 400 रन, लेकिन करना होगा यह काम, सुनील गावस्कर का बड़ा बयान

तीन बार की आईपीएल विजेता टीम सीएसके का इस बार इस आईपीएल सीजन प्ले ऑफ के लिए भी क्वालीफाई नहीं कर सकी. इस आईपीएल सीजन चेन्नई की टीम ने रविवार को लीग चरण का अपना अंतिम मुकाबला खेला. चेन्नई की टीम प्ले ऑफ की दौड़ से पहले ही बाहर हो चुकी थी. लेकिन अंतिम मुकाबले से पहले टेस्ट के दौरान टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने कुछ ऐसा कहा जिससे उनके फैंस काफी खुश हो गए.

आईपीएल सीजन 13 धोनी और उनकी कप्तानी वाली चेन्नई सुपर किंग्स के लिए कुछ खास नहीं रहा. धोनी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से भी संन्यास ले लिया. ऐसे में कयास लगाए जा रहे थे कि धोनी का आईपीएल में ये आखिरी मुकाबला होगा. टॉस के बाद कमेंटेटर डैनी मॉरिसन ने धोनी से पूछा कि क्या सीएसके के लिए उनका अंतिम मैंच है, धोनी ने कहा कि निश्चित तौर पर नहीं. धोनी के इस बयान के बाद पूर्व क्रिकेटर सुनील गावस्कर ने भी बड़ा बयान दिया है.

मैच का प्रसारण करने वाले चैनल पर गावस्कर ने कहा- यह निश्चित रूप से मेरे चेहरे पर मुस्कान लाती है. वो करिश्माई क्रिकेटर हैं और और उनको बल्लेबाजी, विकेटकीपिंग, कप्तानी और मैदान पर व बाहर उनका सामान्य आचरण को देखकर काफी अच्छा लगता है. वे क्या शानदार रोल मॉडल रहे हैं. जितना हम उनको देखते हैं, उतना ही अच्छा महसूस करते हैं. आगे गावस्कर ने कहा- जैसा कि संगकारा पहले ही कह चुके हैं कि धोनी को प्रतिस्पर्धी क्रिकेट खेलना होगा. नेट्स में अभ्यास ठीक है, लेकिन उन्हें प्रतिस्पर्धी क्रिकेट खेलना होगा क्योंकि वह उम्र के उस पड़ाव पर जहां रिफ्लेक्सिस धीमा पड़ जाते हैं। जैसे-जैसे आप बूढ़े होते जाते हैं, आप टाइमिंग खोते चले जाते हैं. सबकुछ अच्छा दिख सकता है.

खुद को आईने में देखने पर आपको लग सकता है कि कुछ भी नहीं बदला है. आप वास्तव में अपना वजन कम कर सकते हैं, आप मजबूत और फिट होने के लिए जिम जा सकते हैं, लेकिन आपकी टाइमिंग खराब हो जाती है. आपको लगता है कि आपका पैर बॉल की तरफ जा रहा है, लेकिन वास्तव में ऐसा नहीं होता. आफ ड्राइव लगाते और गेंद हवा में चली जाती है. आगे उन्होने ये भी कहा कि यह छोटी-छोटी चीजें हैं, जिस पर आप को ध्यान देने की जरूरत है. इसका मतलब यह नहीं है कि उन्हें घरेलू क्रिकेट खेलना होगा. हो सकता है कोई घरेलू क्रिकेट नहीं हो. उस मामले में बहुत कुछ नहीं किया जा सकता. अअगर वह प्रतिस्पर्धी क्रिकेट खेलेंग अगर वह ऐसा करता है, तो मुझे लगता है कि वह अगले साल 400 रन बनाने में सक्षम होंगे.

Continue Reading

Upcoming Matches

Trending

Copyright © 2018 gurucric.com

%d bloggers like this: